Top Ad 728x90

Thursday, January 4, 2018

कुमार का नहीं रहा अब आप पर विश्वास| केजरीवाल को दिया करारा जवाब

आम आदमी पार्टी (AAP) की तरफ से राज्यसभा के लिए नामो का सभी को इंतज़ार था। बुधवार को आम आदमी पार्टी की तरफ से राज्यसभा में भेजे जाने के लिए बुधवार को तीन नाम फाइनल किए गए। इन नामो में आप नेता और पंजाब के पार्टी प्रभारी संजय सिंह, सुशील गुप्ता और एनडी गुप्ता का नाम फाइनल किया गया है। सबसे चौकाने वाला नाम जो लिस्ट में नहीं था वो था 'कुमार विश्वास' का । कुमार विश्वास ने भी अरविन्द केजरीवाल को अपने ही अंदाज़ में जवाब दिया।
Kejriwal v/s Kumar Vishwas
कुमार के नाम पर नहीं हुई चर्चा : सिसोदिया
दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री और कुमार विश्वास के सबसे उन्होंने कहा, "11 नामों पर चर्चा की गई थी और कुमार विश्वास पर तो चर्चा भी नहीं की गई।"
जैसे की उम्मीद थी के कुमार विश्वास जल्दी ही इस पर प्रतिक्रिया देंगे और जमकर हंसी हंसी में कुमार विश्वास और मनीष सिसोदिया को लताड़ा। कुमार विश्वास ने इस फैसले के बाद कहा, "अरविंद ने मुझे मुस्कुराते हुए कहा था कि सरजी आपको मारेंगे पर शहीद नहीं होने देंगे।
उनहोंने कहा मैं उनको बधाई देता हूं कि मैं अपनी शहादत स्वीकार करता हूं।"

राज्यसभा ना भेजे जाने से टूटा विश्वास?

कुमार विश्वास को बहुत उम्मीद थी के उन्हें इस बार राज्यसभा के लिए भेजा जायेगा, पर जब नामो का एलान हुआ तो कुमार विश्वास ने अपने ही अंदाज़ में केजरीवाल को जवाब दिया।
- कुमार ने कहा कि "मैंने जो सच बोला था उसका पुरस्कार मुझे दंड स्वरूप दिया गया।
- कुमार विश्वास ने कहा उन्हें Surgical Strike , demonetization और गलत टिकट वितरण पर बोलने की सजा मिली है।
- उन्होंने कहा कि अरविंद ने मुझे मुस्कुराते हुए कहा था कि सरजी आपको मारेंगे पर शहीद नहीं होने देंगे। मैं उनको बधाई देता हूं कि मैं अपनी शहादत स्वीकार करता हूं।
- उन्होंने कहा के उन्हें पता है कि केजरीवाल की मर्ज़ी के बिना पार्टी में कुछ नही होता और आपसे असहमत रह के वहां जीवित रहना मुश्किल है। मैं पार्टी आंदोलन का हिस्सा हूं तो ये अनुरोध करता हूं कि शहीद तो कर दिया पर इस शव से छेड़छाड़ ना करें।'

हार्दिक ने क्यूँ है कुमार पर विश्वास ?

- गुजरात से उभरे नए युवा पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भी कुमार विश्वास को राज्यसभा भेजने की मांग की। हार्दिक ने कहा के कुमार विश्वास एक अचे वक्ता है और यदि संसद में कोई फर्जी राष्ट्रवादियों को चुप करा सकता है तो वो डॉ.कुमार विश्वास हैं।"
- हार्दिक पटेल के इलावा विपक्षी दल और जो लोग कुमार विश्वास के बारे में जानते हैं वो सभी चाहेंगे के कुमार विश्वास राज्यसभा में जाते।

AAP क्यूँ नही चाहती कुमार को राज्यसभा में ?

कुमार विश्वास हमेशा से अपनी बेबाक अंदाज़ के लिए मशहूर रहे हैं। कई ऐसे मौके आये हैं जब उन्होंने अपने बयानों से अपनी ही पार्टी को घेर डाला। कुछ ऐसे ही मौके हैं जब उन्होंने अपनी पार्टी और नेताओं के काम पर सवाल उठाया ,जिसके कारण पार्टी उन्हें राज्यसभा नहीं भेजना चाहती।

विश्वास के पार्टी पर अविश्वास वाले कुछ बयान?

1. महारथी अभिमन्यू का वध करना चाहेंगे
वॉलन्टियर्स से बातचीत में विश्वास ने कहा था, "लड़ाई भीषण है। कई महारथी अभिमन्यु का वध करना चाहेंगे। पार्टी में कुछ एंटी वायरस लगाए जा रहे हैं। ये एंटी वायरस कार्यकर्ताओं के हैं। कार्यकर्ता सच-सच बताएंगे कि संगठन में कहां दिक्कत है और विधायक कैसा काम कर रहे हैं?'
2. एक CM, दूसरा डिप्टी CM, तीसरा कुछ नहीं
कुछ महीनों पहले एक ऑडियो क्लिप सामने आई थी। इसमें विश्वास कह रहे हैं कि तीन लोगों ने पार्टी बनाई, एक सीएम, दूसरा डिप्टी सीएम, तीसरा कुछ नहीं। इसके पहले उन्होंने एक प्रोग्राम में कहा था कि वे पार्टी छोड़कर कहीं नहीं जाएंगे और दोगुने जोश के साथ पार्टी को मजबूत करेंगे।
3. प्रशांत भूषण, योगेंद्र यादव से बातचीत चल रही है
इसी बातचीत में विश्वास ने कहा था, "अगर कोई दूसरे दल में नहीं गया है और वापसी चाहता है, अगर किसी ने राजनीतिक दल बना लिया है और विलय चाहता है तो हो सकता है। लिस्ट बहुत लंबी है। सुभाष वारे से लेकर अंजलि दमानिया तक, मयंक गांधी, धर्मवीर गांधी से लेकर प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव तक। ऐसे नेताओं के साथ बात वॉलन्टियर्स बात कर रहे हैं। अपनी गलतियों के लिए हम उनसे माफी मांग लेंगे।"
लेकिन कुमार विश्वास के इस दावे को केजरीवाल और दूसरे पार्टी लीडर्स ने खारिज कर दिया था।

केजरीवाल ने क्या कहा था?

- विश्वास समर्थकों के हंगामे के बाद केजरीवाल ने वीडियो ट्वीट किया था।
- इसमें केजरी ने कहा था, "जिन्हें देश के लिए काम करना है, वे पार्टी में आएं। जिन्हें पद और टिकट का लालच है, वे पार्टी छोड़कर चले जाएं।" हालांकि, यह वीडियो काफी पहले का था। लेकिन इसे दोबारा रीट्वीट करने विश्वास का जवाब माना जा रहा था।
क्यों नाराज हुए थे विश्वास?
- दिल्ली के आप विधायक अमानतुल्लाह खान ने कुमार विश्वास पर पार्टी को तोड़ने के आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि विश्वास आरएसएस के एजेंट हैं और पार्टी पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं। कुमार इससे नाराज हो गए। उन्हें मनाने के लिए केजरीवाल और मनीष सिसोदिया उनके घर गए थे।
- अमानतुल्ला को केजरीवाल का करीबी माना जाता है। हालांकि, कुमार समर्थकों के दबाव के चलते उन्हें आप से सस्पेंड कर दिया गया था। इसके बाद से कुमार पार्टी लीडरशिप के फैसलों पर वक्त-वक्त पर हमला बोलते रहे हैं।

0 comments:

Post a Comment

Top Ad 728x90